Kachchee Tikiya

  1. Home
  2. Book details
  3. Kachchee Tikiya
Kachchee Tikiya
150

Kachchee Tikiya

Share:

मदन खिड़की की हथेली पर ठोरी टिकाये अपनी गहरी नज़र से चाँद को कसकर पकड़े हुए था| रात ने जैसे ही आसमान में अपना बिस्तर बिछाया सोलन भवन के सभी प्राणी अपने अपने बिस्तर में जा दुबके पर आठ बरस के मास्टर मदन की नींद न जाने जिज्ञासा के कौन से चौराहे पर जा रुकी थी। माँ की हलकी-फुल्की मीठी सी डांट बहुत चाह कर भी वहां न पहुँच पाई, पर बाबूजी का लाठी उठाने का मात्र इशारा भर इतना कारसाज़ निकला की घड़ी की सूई के एक कदम बढ़ाने से पहले ही मदन बिस्तर में जा पहुंचा, ऐसा लगा की मानो वो फिर से अपनी माँ की कोख में जा बैठा हो| .

Product Details

  • Format: Paperback, Ebook
  • Book Size:5.5 x 8.5
  • Total Pages:98 pages
  • Language:Hindi
  • ISBN:978-93-90229-11-6
  • Publication Date:September 25 ,2020

Product Description

मदन खिड़की की हथेली पर ठोरी टिकाये अपनी गहरी नज़र से चाँद को कसकर पकड़े हुए था| रात ने जैसे ही आसमान में अपना बिस्तर बिछाया सोलन भवन के सभी प्राणी अपने अपने बिस्तर में जा दुबके पर आठ बरस के मास्टर मदन की नींद न जाने जिज्ञासा के कौन से चौराहे पर जा रुकी थी। माँ की हलकी-फुल्की मीठी सी डांट बहुत चाह कर भी वहां न पहुँच पाई, पर बाबूजी का लाठी उठाने का मात्र इशारा भर इतना कारसाज़ निकला की घड़ी की सूई के एक कदम बढ़ाने से पहले ही मदन बिस्तर में जा पहुंचा, ऐसा लगा की मानो वो फिर से अपनी माँ की कोख में जा बैठा हो| .

Do you want to publish a book? Enquire Now

Feel Free to Call us at +91-7905266820 or drop us a mail at editor@kavyapublications.com

Get Publish Now